Poet Kazi Nazrul Islam – Freedom Fighters of India

38
Poet Kazi Nazrul Islam - Freedom Fighters of India by Learners Inside
Poet Kazi Nazrul Islam - Freedom Fighters of India by Learners Inside.

Poet Kazi Nazrul Islam – Freedom Fighters of India

संक्षिप्त परिचय

भारत के महान स्वतंत्रता सेनानी और क्रांतिकारी कवि काजी नजरूल इस्लाम का जन्म 24 मई 1899 को हुआ था। नजरूल साहब साम्यवादी विचारों से प्रभावित थे। इनका जन्म पश्चिम बंगाल के बर्धमान जिले (ब्रिटिश शासन के तहत बंगाल प्रांत में) में हुआ था।

विरोध की शुरुआत – स्वतंत्रता संग्राम

इस विलक्षण प्रतिभा ने ओजपूर्ण रचनाओं के जरिए अंग्रेजों से मोर्चा लिया। ब्रिटिश शासन के खिलाफ नजरुल का विरोध उस समय शुरू हुआ जब वे प्रथम विश्वयुद्ध के समय ब्रिटिश सेना के कराची स्थित 49 वे ऑल बंगाली रेजीमेंट में थे।

कराची में ही वे बोल्शेविक क्रांति (रूस) के प्रभाव में आए। युद्ध के बाद नजरल अपने गृहराज्य बंगाल लौट गए। ये संकल्प लेकर कि वे ब्रिटिश शासन के खिलाफ लिखेंगे और लोगों को एकजुट करेंगे।

Narayan Subbarao Hardikar – Freedom Fighters of India

काव्य एवं कविताओं का आधार – निर्धनता और पीडा

कुछ वर्षों में ही वे असहयोग आंदोलन से प्रभावित हुए। भारत की निर्धनता और पीडा उनकी कला चेतना और काव्य कृतियों का आधार बन गई। इस काल की नजरुल की लोकप्रिय कविताओं का संग्रह अग्नि बीडा की रचनाएं उनकी नव जाग्रत राजनीतिक चेतना से ओतप्रोत हैं। अग्नि मीना की एक कविता है – विद्रोही।

इसी प्रकार खिलाफत आंदोलन ने उन्हें हिंदू मुस्लिम भाईचारे की अहमियत और आवश्यकता से रूबरू कराया, जो अंग्रेजों के खिलाफ एकजुट होकर उभरा था। नवंबर 1922 में काजी नजरूल इस्लाम को ब्रिटिश सरकार ने राजद्रोह के आरोप में कलकत्ता में गिरफ्तार कर दिया। राष्ट्रद्रोह के आरोप पर सुनवाई के दौरान नजरुल ने अदालत में अपना पक्ष खुद रखते हुए सरकार को चौका दिया।

Madan Lal Dhingra UPSC – Freedom Fighters of India

नजरूल इस्लाम ने आकाशवाणी कलकत्ता के लिए काम किया। उन्होंने कई फिल्मों में अभिनय किया और अनेक गीत लिखे नजरूल गीति उनके बांग्ला गीतों की विधा हैं।

India’s New Education Policy 2020 {Hindi} – Details and Analysis, pdf

मृत्यु

काजी नजरूल इस्लाम ने 29 अगस्त 1976 में ढाका (अभी का बांग्लादेश) में अंतिम सांस ली। उनकी अंतिम इच्छा के अनुरूप उन्हें ढाका विश्वविद्यालय में मस्जिद के बगल में दफनाया गया हैं।

Do you have any Phobia – Check it out solution, this may help you visit – typesofphobia.net

You can mail or comment on your precious feedback.

जय हिंद जय भारत…!

Freedom Fighters of India

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here